बवासीर को जड़ से ख़तम करें, कुछ घरेलु दबा खाएं और कुछ परहेज करें.

बवासीर /भगंदर (piles ) आजकल लाइफ की एक बहुत ही बड़ी चुनौती बन गई है .यह रोग आम मानस में बहुत ही गंभीर समस्या बन गई है .

हमारा दैनिक रूटीन, समय पर सही भोजन नहीं करने से और प्रयाप्त मात्रा में पानी का सेवन नहीं करना, जंक फ़ूड ,स्ट्रीट फ़ूड , ऑयली फ़ूड,फैटी फ़ूड,स्पाइसी फ़ूड आजकल के हमारे रोज मर्रा के भोजन बन गए हैं , हम मे से किसीको ये तक भी पता नहीं होता की हमने घर का खाना क्या और कब खाया था. तो बताइए , हमारा सवास्थ कैसे ठीक रहेगा, और हमारा पाचन सिस्टम कैसे सही से काम करेगा ?

आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ बवासीर होने का मुख्य कारण क्या क्या हैं ? और इसको कैसे जड़ से ख़तम कर सकते हैं ,कुछ घरेलु उपचार और आपके खान पान को ठीक करके .

आइये जानतें हैं बवासीर क्या है ?

बवासीर/piles ये हमारे मलद्वार में होता है,ये मलद्वार के अंदरुनी व बाहरी हिस्सा में हो सकता है ,इसका साइज़ शुरुवाती दिनों में एकदम छोटा मेथी का दना जितना ही होता है जैसे जैसे बवासीर पुराना होता जाता है इसका साइज़ भी बड़ा होते जाता है ,

बवासीर होने के कारण ?

लम्बे समय तक पेट में कब्ज़ रहेना ,कंटिन्यू कोई भारी चीज उठाना इससे भी piles होता है क्यूँ की वेट ज्यादा उठाने से आपके निचले हिस्से में बल पड़ता है उससे piles होता है ,प्रेगनेंट लेडी को भी ये प्रॉब्लम आ सकती है , और इसके साथ साथ आपका डेली लाइफ आपका खान पान से भी piles होता है . खाने में ज़्यादा चिकना ऑयली खाना ,मसाले दार खाना , मिर्च वाला खाना इससे भी piles होता है .

बवासीर होने से कैसे बचें ?

पानी बहुत पियें , खाने में एकदम लाइट खाना लें, जैसे बिना तला भुना कम मसाले वाला खाना खाएं , और खाने में हमेश सलाद प्रयोग करें, ज्यादा से ज्यादा fiber वाले खाना सब्जी खाएं .

बवासीर के लिए घरेलू औषधि ?

खाली पेट १ ग्लास दूध में एक नीबू निचोडके पियें ,दूध ऐसा गरम हो जिसे आप एकदम से पि सके और नीबू जैसे ही निचोड़ोगे हाथो हाथ दूध पिलेना है .

नागदोंन के ६-७ पत्ते खली पेट खा लेना है सुबह उठ के .

खाने वाला कपूर को छोटा सा पका हुवा केले के टुकड़े के अंदर, खाने वाला कपूर, एक चना जैसा एक पिस डालके निगल लेना है .

Leave a Reply

Close Menu